Connect with us

Akhilesh Yadav

Akhilesh Yadav : पिछले दरवाजे से मुंह ढंककर निकल गया… पीएम मोदी के इंटरव्यू पर अखिलेश यादव जी का तंज

पिछले दरवाजे से मुंह ढंककर निकल गया… पीएम मोदी के इंटरव्यू पर अखिलेश का तंज

यूपी विधानसभा चुनाव 2022 के लिए पहले चरण का मतदान शुरू हो गया है। इस बीच कल पीएम मोदी ने एएनआई को दिए एक इंटरव्‍यू में अखिलेश यादव और जयंत चौधरी की जोड़ी पर यह कहते हुए निशाना साधा था कि ये दो लड़कों वाला खेल तो हमने पहले भी देखा है।

पीएम के इस इंटरव्‍यू पर शायराना अंदाज में तंज कसते हुए समाजवादी पार्टी के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष अखिलेश यादव ने एक ट्वीट किया है। इस ट्वीट में अखिलेश ने लिखा- ‘झूठ भी शरमाकर… पिछले दरवाज़े से मुँह ढँककर निकल गया… जब वो दुनिया से रूबरू हुए…।’

पीएम ने यूपी में अखिलेश यादव और जयंत चौधरी पर पूछे गए सवाल पर कहा था कि ये दो लड़कों वाला खेल तो हमने पहले भी देखा है। 2017 के विधानसभा चुनाव में अखिलेश यादव और राहुल गांधी की जोड़ी की ओर इशारा करते हुए पीएम ने कहा था कि इतना अहंकार था कि उन्हें ‘गुजरात के दो गधे’ ये शब्द प्रयोग किया था और उत्तर प्रदेश की जनता ने उन्हें हिसाब दिखा दिया। एक बार तो दो लड़के भी थे और एक बुआ जी भी उनके साथ थीं। फिर भी, यह उनके लिए कारगर नहीं हुआ। 

‘गुजरात के दो गधे’ का क्‍या था विवाद

इस विवाद की जड़ में था गुजरात टूरिज्म का एक विज्ञापन जिसमें अमिताभ बच्चन कच्छ के छोटा रण में रहने वाले जंगली गधों के बारे में बताते हैं। वह इन गधों की तारीफ करते हुए पर्यटकों को गुजरात आने को कहते हैं। अखिलेश यादव ने इसी प्रचार को लेकर तंज कसा था।

क्‍या कहा था अखिलेश ने

हमारे साथियों ने टीवी देखा होगा कि एक गधे का विज्ञापन आता है। बताओ किसान भाइयों एक गधे का विज्ञापन आता है। हम तो सदी के महानायक (अमिताभ बच्चन) से कहेंगे कि अब आप गुजरात के गधों का प्रचार मत करिए। अब चुनाव इलाहाबाद में है, हम तो पत्रकार साथियों से कहेंगे कि विज्ञापन आपके चैनल पर भी चला होगा, हम तो सदी के सबसे बड़े महानायक से निवेदन करेंगे कि आप गुजरात के गधों का प्रचार मत करिए। जिन्होंने ऐड देखा होगा जानते होंगे, बताओ कहीं गधों का भी प्रचार होता है क्या। गधों का प्रचार होने लगा तो कैसे काम चलेगा। गुजरात के लोग तो गुजरात के गधों का भी प्रचार करा रहे हैं और हम पर आरोप लगा रहे हैं कि हमने केवल कब्रिस्तान के लिए काम किया है।

जवाब में क्या कहा था मोदी ने?

पीएम मोदी ने इसके बाद इसे मुद्दा बना लिया था। वह सभी रैलियों में इसका जिक्र करने लगे और माना जाता है कि सपा को अखिलेश के तंज का नुकसान उठाना पड़ा। पीएम ने कहा था, ”अखिलेश जी को पता नहीं है, गधा भी हमें प्रेरणा देता है। अगर दिल दिमाग साफ हो तो प्रेरणा ले भी सकते हैं। गधा अपने मालिक का वफादार होता है। गधा जिनता मालिक काम ले उतना काम करता है। गधा कम से कम खर्च वाला होता है। गधा कितना ही बीमार हो, खाली पेट हो, कितना ही थका हुआ हो, लेकिन मालिक अगर उससे काम लेता है तो सहन करते हुए भी मालिक का काम पूरा करता है। अखिलेश जी यह सवा सौ करोड़ देशवासी मेरे मालिक हैं। वो मुझसे जितना काम लेते हैं मैं करता हूं, बिना छुट्टी लिए करता हूं, थक जाता हूं तो भी करता हूं। कभी भूखा रहा तो भी करता हूं क्योंकि गधे से प्रेरणा लेता हूं और बड़े गर्व से लेता हूं ताकि इन सवा सौ करोड़ देशवासियों के लिए गधे से भी ज्यादा मजदूरी करके उनके काम आऊं इस गौरव से काम करता हूं।” 

Read Also : SP Manifesto 2022: यूपी में सपा सरकार बनी तो क्या-क्या मिलेगा मुफ्त, ये हैं अखिलेश यादव के 22 वादे

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Advertisement

Must See

More in Akhilesh Yadav