Connect with us

Mulayam Singh Yadav

Mulayam singh Yadav Story UP Election 2022: राजनीति के क्षेत्र में खूब रहा जोड़ियों का फैशन

इस बार के विधानसभा चुनाव में अखिलेश यादव और जयंत चौधरी की जोड़ी की चर्चा है। इस जोडी ने अब तक कई रैलियां की है।

Lucknow News: इस बार के विधानसभा चुनाव (UP Election 2022) में अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) और जयंत चौधरी (Jayant chaudhary) की जोड़ी की चर्चा है। इस जोडी ने अब तक कई रैलियां की है। मुलायम सिंह यादव (Mulayam Singh Yadav) और चौ अजित सिंह (Chaudhary Ajit Singh) के पुत्रों वाली यह जोडी सत्ताधारी भाजपा (BJP) के नेताओं को कडी टक्कर दे रही है लेकिन जहां तक राजनीतिक जोडियों की बात है यूपी में पहले भी कई राजनीतिक जोडियां अपना राजनीतिक कमाल दिखाती रही हैं।

मुलायम सिंह-बेनी प्रसाद वर्मा

सियासत में बनती बिगडती जोडियों में एक नाम मुलायम और बेनी का भी आता है। समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) की स्थापना में शामिल रहे बेनी प्रसाद वर्मा मुलायम (Beni Prasad Verma Mulayam) के बेहद करीब हुआ करते थें दोनो की जोडी तीन दशक तक हिट रही। लेकिन 2007 में उन्होेने मुलायम सिंह का साथ छोडकर बेनी प्रसाद वर्मा ने अपनी अलग पार्टी समाजवादी क्रांतिदल का गठन कर लिया। बाद में वह कांग्रेस मेंशामिल होकर केेन्द्रीय मंत्री भी बने। अभी 2016 में बेनी की वापसी समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) में हुई थी। लेकिन 2017 के चुनाव में उनके पुत्र का टिकट जब पार्टी ने काट दिया तो बेनी फिर नाराज होकर पार्टी से अलग हो गए।

मुलायम सिंह-अमर सिंह

कभी अमर सिंह (Amar Singh) और मुलायम सिंह यादव (Mulayam Singh Yadav) की जोड़ी ने भी राजनीति में खूब कमाल दिखाया। लेकिन आजम खां से विवाद के चलते मुलायम सिंह (Mulayam Singh Yadav) और अमर सिंह (Amar Singh) की राहे 2010 में जुदा हो गयी। बाद में अमर सिंह (Amar Singh) की फिर सपा में वापसी हुई लेकिन तब तक वक्त काफी बीत चुका था और सपा की राजनीति में भी बदलाव आ चुका था। लेकिन 2017 को विधानसभा चुनाव आते आते मामला बिगड गया।

Advertisement

Must See

More in Mulayam Singh Yadav