Connect with us

Akhilesh Yadav

PM की रैली में आई बसों को नहीं हुई पेमेंट, अखिलेश यादव ने कसा तंज ,लोग बोले – फिर भी जुटे चाट के ठेलों से भी कम लोग

The buses that came to the PM’s rally were not paid, Akhilesh Yadav took a jibe, people said – still less people gathered than the chaat carts

PM की रैली में आई बसों को नहीं हुई पेमेंट, अखिलेश यादव ने कसा तंज ,लोग बोले – फिर भी जुटे चाट के ठेलों से भी कम लोग

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पिछले गुरुवार को उत्तर प्रदेश के सहारनपुर में एक रैली को संबोधित करने पहुंचे थे। पीएम मोदी की रैली में आई भीड़ को लेकर दावा किया गया है कि उन्हें प्राइवेट बसों में बैठा कर ले आया गया था। जिसमें बस संचालकों से वादा किया गया था कि डीजल का खर्चा दिया जाएगा। बस मालिकों का कहना है कि सभी अपने वादे से मुकर गए हैं। इसको लेकर सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने बीजेपी पर तंज कसा है।

सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने एक समाचार पत्र की कटिंग शेयर कर लिखा कि वादे में चूक हुई। पहले भाजपा के प्रचार की तस्वीरें ही झूठी थीं, अब तो भाजपा की रैली में भीड़ भी दूसरे राज्यों से लाई जा रही है। भाड़े की भीड़ लाने वाली हरियाणा की बसों को वादा अनुसार तेल टोल तक का पैसा नहीं दिया गया, भाड़ा तो दूर की बात रही। ध्यान रखें कहीं भाजपा अपने मतदाता भी..।

आम यूजर के कमेंट : इस खबर को लेकर सोशल मीडिया पर लोग कई तरह की प्रतिक्रिया देते नजर आ रहे हैं। पूर्व IAS सूर्य प्रताप सिंह ने बीजेपी पर तंज कसते हुए लिखा कि सहारनपुर रैली के लिए हरियाणा से आयात की गई भीड़। जींद, अंबाला से सहारनपुर आईं 300 बसें, फिर भी चार पकोड़े के ठेलों से कम लोग। अशोक पांडे नाम के एक यूजर ने लिखा – ऐसे ही जो वादे चुनाव के पहले किए जा रहे हैं, उनसे भी आगे मुकर जायेंगे ये।

आशीष यादव नाम के एक यूजर ने कमेंट किया कि लगता है दिल्ली तक यह बात पहुंच गई है कि बीजेपी यूपी में हार रही है। इसलिए जैसे-जैसे प्रत्येक चरण नजदीक आ रहे हैं वैसे ही पीएम मोदी की रैलियां बढ़ती जा रही हैं। वो भी किराए की भीड़ लाकर। योगेंद्र नाम के टि्वटर हैंडल से लिखा गया – इन बसों को फाइनेंस कौन करता? सरकारी खाते से पैसा भरा जाता। इनकम टैक्स डिपार्टमेंट किधर है भाई?

हरीश नाम के यूजर लिखते हैं कि किराए की भीड़ और बस मालिक को कोई पेमेंट नहीं, यही है भाजपा। सूरज नाम के एक यूजर ने कमेंट किया कि अरे भाई अब तो योगी जी को भीड़ भी दूसरे राज्य से लानी पड़ रही है। दिनेश नाम के एक यूजर लिखते हैं कि लगता है बीजेपी का हर राज्य में यही हाल है। अमित शर्मा नाम के क्यों सर कहते हैं कि चलिए बढ़िया हैं। इस खबर के वायरल हो जाने से कम से कम बस वालों को पैसा तो मिल जाएगा।

Read Also : UP Election 2022: दूसरे चरण की वोटिंग के बाद अखिलेश यादव ने किया सीटों का शतक पूरा होने का दावा

Advertisement

Must See

More in Akhilesh Yadav